नैनीताल : मालरोड की सड़कें बनीं झील, सेना ने संभाला मोर्चा, देखिये ऐसे बचाई लोगों की जान..

ख़बर शेयर करें

उत्तराखण्ड : राज्य के पहाड़ी इलाकों में बारिश ने जमकर तबाही मचाई है। वहीं सरोवर नगरी नैनीताल में बारिश ने कई दशकों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। जानकारी के अनुसार, नैनीताल में 24 घंटे में 445 मिमी बारिश दर्ज की गई। वहीं, सोमवार सुबह से लेकर मंगलवार की सुबह तक पूरे राज्य में 36.7 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई थी।

Ad - Bansal Jewellers

मौसम विज्ञानी विक्रम सिंह के मुताबिक इस अवधि में पूरे राज्य में औसतन 2.4 मिमी बारिश होती है, लेकिन मौसम के बदले मिजाज के चलते 36.7 मिमी बारिश हुई। ऐसे में सामान्य से 1428 फीसदी अधिक बारिश रिकार्ड की गई। जो हाल फिलहाल में अक्तूबर में सबसे अधिक बारिश है।नैनीताल में भारी बारिश से कई जगह पानी भर गया है। तल्लीताल चौराहे में (डांठ) में लगभग दो इंच की दरार पड़ गई। सूचना मिलते ही एसडीएम और सीओ मौके पर पहुंच गए। कैंट रोड में पानी का बहाव बहुत तेज होने के कारण दुकानों के अंदर फंसे लोगों को सेना के जवानों ने रेस्क्यू कर निकाला। इस दौरान सूखा ताल भी पानी से लबालब भरा नजर आया।

यह भी पढ़ें 👉  सड़क हादसा : PM मोदी की रैली में जा रही बस ने उड़ाये कार के परखच्चे..4 लोगों की मौत

सरोवर नगरी नैनीताल में अक्तूबर में हुई बारिश ने भी सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। सोमवार को भारी बारिश के बाद नैनीझील इतनी उफना गई कि अक्तूबर में पहली बार इसके दोनों निकासी गेट, वह भी डेढ़ फीट की अपनी पूरी क्षमता के अनुसार खोलने पड़े। इसके बावजूद मंगलवार को भी माल रोड और नैना देवी मंदिर परिसर में झील का पानी हिलोरे मारता रहा।

Elinterio Web AD
kulsum-mall-ad
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments