उत्तराखंड : हौसलों को पंख- पूजा भोला की एक नायाब पहल..

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड:अल्मोड़ा निवासी कंचन, सौरव, नीरज तिवारी जो कि दिव्यजन हैं, तीनो ही भाई बहन शारिरिक रूप से चलने में अक्षम हैं, कहीं भी आने जाने के लिए इन तीनों को ही व्हीलचेयर का सहारा लेना पड़ता है और ये ही इन तीनों के पंख हैं,

Ad - Bansal Jewellers

बावजूद इसके इन्होंने अपनी इस स्थिति को अपने सपनो के आगे रुकावट नहीं बनने नहीँ दिया,

यह भी पढ़ें 👉  बड़ा फैसला (उत्तराखण्ड): सरकार ने हल्द्वानी समेत राज्य के गवर्मेन्ट डिग्री कॉलेजों को दी ये मंन्ज़ूरी

लेकिन वक़्त ने एक बार फिर से इनके हौसलों का इम्तिहान लिया और इनके आवागमन का एक मात्र ज़रिया इनकी व्हीलचेयर वो टूट गई जिससे अचानक ही इनके भविष्य को जैसे अल्पविराम लग गया, इस परिस्थिति में उनको अपनी शुभचिंतक पूजा भोला का स्मरण हुआ और उन्हें अपनी इस परेशानी से अवगत कराया,

पूजा भोला जो उत्तराखंड में एक समर्पित सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में जानी जाती हैं और पहले से ही इस परिवार की समय समय पर मदद करती रहती हैं, उन्होंने तुरंत स्थिति की गंभीरता को समझा और इसे अपने मित्र और सामाजिक कार्यों में सहयोगी संजीव वर्मा (कुमाऊं ज्वेलर्स), विवेक अग्रवाल (देवाशीष होटल) के साथ मिलकर इन तीनों के लिए नई व्हीलचेयर की व्यवस्था की

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद : जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर में आतंकियों से मुठभेड़ में 1JCO समेत उत्तराखण्ड के दो जवान हुए शहीद

और फिर विगत 22 सितंबर को अपने पति के साथ अल्मोड़ा निवासी कंचन, सौरव, नीरज तिवारी के घर जाकर उन्हें ये व्हीलचेयर देकर अपनी सामाजिक जिम्मेदारी का निर्वहन किया।


ये कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि आप लोगों ने कंचन, सौरव और नीरज के हौसले को फिर से पंख दे दिए ताकि इनके सपनों को कोई रोक न सके, क्योंकि सपने सबके हैं और उनको हासिल करनेबक हक़ भी सबको है।

Elinterio Web AD
kulsum-mall-ad
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments